अल-शिफा अस्पताल लगभग खाली, दांव पर 32 बच्चों की जिंदगियां, जानिए आगे क्या होगा

अल-शिफा अस्पताल लगभग खाली, दांव पर 32 बच्चों की जिंदगियां, जानिए आगे क्या होगा

[ad_1]

Israel Hamas War: विश्व स्वास्थ्य संगठन और संयुक्त राष्ट्र की एक ज्वाइंट टीम ने बताया है कि गाजा के अल-शिफा अस्पताल पर इजरायली सेना की मौजूदगी की वजह से अस्पताल में मौजूद 291 मरीजों में से 32 बच्चों की तबीयत बेहद गंभीर है. 

गौरतलब है शनिवार को अल-शिफा के एक डॉक्टर ने दावा किया है कि इजरायली सेना ने अस्पताल खाली करने के लिए एक घंटे का वक्त दिया है. इस खबर के बाद अस्पताल से लोगों के भागने की तस्वीरें भी सामने आई. अल-शिफा अस्पताल में मिशन का नेतृत्व करने वाले विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि आने वाले दिनों में और अधिक टीमें अल-शिफा पहुंचने का प्रयास करेंगी ताकि रोगियों को दक्षिणी गाजा ले जाने की कोशिश की जा सके. 

अल शिफा लगभग आठ दशकों से पट्टी के चिकित्सा बुनियादी ढांचे का धड़कता दिल रहा है, लेकिन अब विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार ये अब “मूल रूप से काम नहीं कर रहा है.” समाचार एजेंसी एपी के अनुसार, इजरायली सैनिक अस्पताल में रह रहे हैं और हमास के कमांड सेंटर की तलाश कर रहे हैं. हमास और अस्पताल के कर्मचारियों ने इजरायल के आरोपों से इनकार किया है.

दक्षिणी गाजा के अस्पतालों में भीड़

इजरायल ने कथित तौर पर अल-शिफा अस्पताल खाली कर दक्षिणी गाजा की ओर जाने को कहा था. ज्यादातर लोगों ने अस्पताल खाली कर पैदल ही दक्षिणी गाजा की ओर चल पड़े हैं. दक्षिणी गाजा के अस्पतालों में मरीजों की भारी भीड़ है. वहां नए मरीजों को भर्ती करने की जगह भी नहीं बची है, लेकिन फिर भी उन्हें वहां भर्ती किया जा रहा है. अलजजीरा के मुताबिक, पैदल जा रहे कई लोग गंभीर रूप से घायल हैं, वे चलने में असमर्थ हैं, मगर फिर भी लगातार चल रहे हैं.हालांकि अस्पताल के कर्मचारी अभी भी अल-शिफा में 291 मरीजों के साथ हैं.

ये भी पढ़ें:
म्यूजिक फेस्टिवल में हमला करने का नहीं था हमास का प्लान, इजरायली सेना की रिपोर्ट में खुलासा 

[ad_2]

Source link