‘उद्धव ठाकरे और उनके बेटे मुंबई की किस्मत तय नहीं कर सकते’, झुग्गियों को लेकर आरोप पर बोले पीयूष गोयल

‘उद्धव ठाकरे और उनके बेटे मुंबई की किस्मत तय नहीं कर सकते’, झुग्गियों को लेकर आरोप पर बोले पीयूष गोयल

[ad_1]

Piyush Goyal On Aditya Thackeray: शिवसेना (यूबीटी) नेता आदित्य ठाकरे ने शनिवार (30 मार्च) को बीजेपी पर मुंबई से झुग्गियों को जबरन हटाने और उनमें रहने वाले लोगों को नमक से अटी पड़ी (साल्ट पैन लैंड) तटीय भूमि पर स्थानांतरित करने की योजना बनाने का आरोप लगाया.

आदित्य ठाकरे ने मुंबई में एक संवाददाता सम्मेलन में मुंबई (उत्तर) लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल की टिप्पणियों पर निशाना साधा.

बाद में पीयूष गोयल ने शिवसेना (यूबीटी) प्रमुख उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे को उनके ‘विकास-रोधी’ एजेंडे और मुंबई के झुग्गीवासियों के अधिकारों पर कुठाराघात के लिए उन पर निशाना साधा. पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने एक्स पर लिखा, ”उद्धव ठाकरे और उनके बेटे मुंबई की किस्मत तय नहीं कर सकते…”

पीयूष गोयल का उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे पर निशाना

सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में पीयूष गोयल ने कहा, ‘‘उद्धव ठाकरे जी और उनके बेटे मुंबई के लोगों के जीवन को लेकर कोई हुक्म नहीं दे सकते. यह शहर उन लोगों के सपनों और आकांक्षाओं को बनाए रखता है जो इसे अपना घर कहते रहे हैं. जो लोग झुग्गियों में रहते हैं उन्हें भी बेहतर जीवन जीने का अधिकार है.’’

इससे पहले एक मीडिया हाउस को दिए साक्षात्कार में पीयूष गोयल ने कहा था कि अगर वह निर्वाचित होते हैं, तो वह एक ऐसी परियोजना पर काम करेंगे, जो इस निर्वाचन क्षेत्र को पूरी तरह से स्वच्छ कर देगी. इस क्षेत्र में मलाड, कांदिवली और बोरीवली जैसे उत्तरी उपनगर शामिल हैं.

पीयूष गोयल ने झुग्गी-झोपड़ियों के पुनर्वास के लिए मुंबई में नमक से आच्छादित भूमि को पुनर्वितरित करने के विचार का स्वागत किया था.

यह एक बहुत ही खतरनाक योजना- आदित्य ठाकरे

ठाकरे ने कहा, ”यह एक बहुत ही खतरनाक योजना है. जो लोग झुग्गियों में रहते हैं, उनकी आजीविका वहीं के आसपास चलती है. हम उन्हें (बीजेपी को) झुग्गियों को ऐसे क्षेत्र में स्थानांतरित करने की उनकी योजना पर आगे नहीं बढ़ने देंगे.”

महा विकास आघाडी शासन में मंत्री रहे ठाकरे ने आरोप लगाया, ”बीजेपी की नीति गरीबी को खत्म करने की नहीं, बल्कि गरीब लोगों को मिटाने की है.” उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी की चाल अपने ‘दोस्तों’ को सारे ‘नमक क्षेत्र’ देने की है और धारावी पुनर्विकास परियोजना का जिक्र किया, जिसके तहत उत्तर-पूर्वी मुंबई में ‘नमक क्षेत्र’ की कुछ भूमि पर कुछ निवासियों को बसाने का प्रस्ताव है.

ठाकरे ने कहा कि स्थानांतरण पर फैसला मुंबई के लोग करेंगे, केंद्र नहीं. उन्होंने कहा कि जब एमवीए सरकार ने मेट्रो रेल कार शेड परियोजना के लिए संबंधित जमीन (साल्ट पैन लैंड) मांगी थी, तो केंद्र ने अनुमति देने से इनकार कर दिया.

मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष वर्षा गायकवाड़ ने भी बीजेपी को घेरा

मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष वर्षा गायकवाड़ ने कहा कि बीजेपी का एजेंडा गरीबों को नमक से अटी पड़ी भूमि पर बसाना है. उन्होंने पूछा कि जब झुग्गीवासियों को उसी स्थान पर पुनर्वास करने की नीति है तो उन्हें मुंबई में ‘साल्ट पैन लैंड’ भूमि पर स्थानांतरित करने की क्या आवश्यकता है. गायकवाड़ ने आरोप लगाया कि बीजेपी की चाल गरीबी नहीं, बल्कि गरीब लोगों को हटाना है.

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Election 2024: बीजेपी की आठवीं लिस्ट में हंस राज हंस को मिला मौका, सनी देओल का कटा पत्ता, जानें किसे मिला कहां से टिकट

[ad_2]

Source link