ऑस्ट्रेलिया का ये करोड़पति बिजनेसमैन चाहता है कि बेरोजगारी 50 फीसदी बढ़ जाए, जानिए वजह

ऑस्ट्रेलिया का ये करोड़पति बिजनेसमैन चाहता है कि बेरोजगारी 50 फीसदी बढ़ जाए, जानिए वजह

[ad_1]

Australia Millionaire On Unemployment: ऑस्ट्रेलिया के एक करोड़पति प्रापर्टी डेवलपर ने बेरोजगारी के मुद्दे पर विवादित बयान दिया है. रियल एस्टेट कंपनी गर्नर ग्रुप के सीईओ टिम गर्नर ने एक प्रॉपर्टी समिट में बेरोजगारी को लेकर कहा कि देश में बेरोजगारी बढ़नी चहिए, क्योकिं कर्मचारी बहुत ही अंहकारी और लापरवाह हो गए हैं. 

इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के अनुसार, ऑस्ट्रेलियाई रियल एस्टेट कंपनी के सीईओ टिम गर्नर ने कहा कि कोविड महामारी ने कर्मचारियों के कार्य नीति को बदल दिया है. उन्होंने आगे कहा कि वर्कर्स को अधिक प्रोडक्टिव बनाने के लिए बेरोजगारी 50% तक बढ़नी चाहिए. अपनी बात रखते हुए गर्नर ने कहा, ”मुझे लगता है कि लोग अब काम नहीं करना चाहते, पिछले कुछ सालों में लोगों को ज्यादा काम न करने के लिए भी अच्छे पैसे मिल रहे हैं, हमें ये बदलाव देखना चाहिए.”

50% तक बेरोजगारी बढ़ाने की मांग 

उन्होंने सिडनी में ऑस्ट्रेलियाई वित्तीय समीक्षा संपत्ति शिखर सम्मेलन में कहा कि हमें अर्थव्यवस्था में दिक्कत महसूस करने की जरूरत है और काम बेहतर हो इसके लिए बेरोजगारी 40-50% तक बढ़नी चाहिए. उन्होंने कहा, ”हमें लोगों को यह याद दिलाने की जरूरत है कि वे एम्प्लायर के लिए काम करते हैं, न कि किसी और के लिए.”

टिम गर्नर ने कहा कि हमें उस रवैये को खत्म करना होगा, अन्यथा यह सिलसिला चलता रहेगा और काम की गुणवत्ता प्रभावित होती रहेगी . बता दें कि ऑस्ट्रेलिया में बेरोज़गारी दर 3.6 प्रतिशत हैं, जिसका अर्थ है कि 50 प्रतिशत की वृद्धि में अनुमानित 250,000 कर्मचारी अपनी नौकरियां खो देंगे. टिम गर्नर का यह विवादास्पद बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और यूजर्स उनकी जमकर आलोचना कर रहे हैं. 

पहले भी दे चुके हैं विवादित बयान 

हालांकि यह कोई पहली बार नहीं है, जब इस ऑस्ट्रेलियाई करोड़पति ने विवादित बयान दिया हों, इससे पहले 2017 में भी टिम गर्नर ने कहा था कि आज की पीढ़ी को एवोकाडो या महंगे लैटेस खरीदने की जगह पैसे बचाने चाहिए.

ये भी पढ़ें: Niger-France Relations: नाइजर सेना ने फ्रांस के राजदूत को बनाया बंधक, प्रेसिडेंट मैक्रों ने कहा- ‘खाने-पीने की हो रही दिक्कत’

[ad_2]

Source link