कौन है लखबीर सिंह लांडा जिसकी एनआईए को है तलाश, एजेंसी ने सर पर रखा इतना इनाम

कौन है लखबीर सिंह लांडा जिसकी एनआईए को है तलाश, एजेंसी ने सर पर रखा इतना इनाम

[ad_1]

Khalistani Terrorist: भारत-कनाडा के विवाद के बीच भारत के राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने चार खालिस्तानी आंतकियों की जानकारी देने वाले को नगद इनाम देने की घोषणा की है. खालिस्तान समर्थकों पर लगातार कार्रवाई करते हुए NIA ने बुधवार को बब्बर खालसा इंटरनेशनल (BKI) के संचालक लखबीर सिंह संधू उर्फ लांडा की गिरफ्तारी के लिए नकद पुरस्कार की घोषणा की. इसके अलावा बब्बर खालसा इंटरनेशनल के चार अन्य सदस्यों की जानकारी देने वाले के लिए भी NIA ने इनाम देने की घोषणा की है, जिनमें हरविंदर सिंह संधू उर्फ ‘​​रिंदा’, परमिंदर सिंह कैरा उर्फ ​​’पट्टू’, सतनाम सिंह उर्फ ​​’सतबीर सिंह’ उर्फ ​​’सत्ता’ और यादविंदर सिंह उर्फ ​​’यद्दा’ हैं. 

जांच एजेंसी ने ‘लखबीर सिंह’ और ‘हरविंदर सिंह संधू’  की जानकारी मुहैया कराने वाले के लिए 10-10 लाख रूपये और परमिंदर सिंह कैरा, सतनाम सिंह और यादविंदर सिंह की जानकारी देने वाले के लिए 5-5 लाख रूपये के धनराशी की घोषणा की है. 

कौन है लखबीर सिंह लांडा?

लखबीर सिंह लांडा पंजाब के तरन तारन जिले का रहने वाला है. खुफिया जानकारियों के मुताबिक फिलहाल वो कनाडा के अल्बर्टा(एडमोंटन) में छिपा हुआ है. पाकिस्तान के आतंकवादी हरविंदर सिंह उर्फ रिंडा को लखबीर सिंह का करीबी बताया जाता है. लांडा 2017 में कनाडा भाग गया था. कनाडा जाकर उसने खालिस्तान समर्थक आतंकवादी संगठन बीकेआई से हाथ मिला लिया था. लखबीर सिंह लांडा के खिलाफ पहला मामला जुलाई 2011 में दर्ज किया गया था. उसपर हरिके पट्टन में हत्या का प्रयास और शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था. 

हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक, फिलहाल लखबीर सिंह के खिलाफ अमृतसर, तरन तारन, मोगा और फिरोजपुर जिलों में हत्या, हत्या के प्रयास और नशीले पदार्थों की तस्करी सहित करीब 18 आपराधिक मामले दर्ज हैं.

लखबीर सिंह ने अमृतसर में एक सब-इंस्पेक्टर की कार के नीचे आईईडी लगाया था. इसके अलावा मोहाली में पंजाब पुलिस की खुफिया मुख्यालय पर भी आरपीजी हमला करने में भी लखबीर सिंह का हाथ बताया जाता है.

एनआईए ने 2022 में मामला दर्ज किया था जब यह पता चला था कि विदेशों में स्थित आतंकवादी संगठन और आतंकवादी तत्व टारगेट मर्डर और हिंसक अपराध को अंजाम देने के लिए देश के उत्तरी राज्यों में सक्रिय संगठित आपराधिक गिरोहों के नेताओं और सदस्यों के साथ मिलकर काम कर रहे थे.

एनआईए के मुताबिक, इस साल की शुरुआत में बीकेआई की आतंकवादी गतिविधियों से संबंधित एक मामले में लखबीर सिंह वॉन्टेड है, उसपर आरोप है भारत की शांति और सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ना और पंजाब राज्य में आतंक फैलाना है.

उन पर बीकेआई के लिए धन जुटाने के अलावा, पंजाब में आतंकवादी हार्डवेयर और नशीले पदार्थों की तस्करी के माध्यम से और व्यापारियों और अन्य प्रमुख व्यक्तियों से व्यापक जबरन वसूली के माध्यम से आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने का आरोप है. 

ये भी पढ़ें:

पंजाब के गैंगस्टर सुक्खा दुनिके की कनाडा में हत्या, हमलावरों ने दागी 15 गोलियां

[ad_2]

Source link