जन्मदिन विशेष ! स्मोक आर्टिस्ट ने धुएं से बनाई पीएम की शानदार पोर्ट्रेट

जन्मदिन विशेष ! स्मोक आर्टिस्ट ने धुएं से बनाई पीएम की शानदार पोर्ट्रेट

[ad_1]

PM Modi Quotes: ओडिशा के मशहूर स्मोक आर्टिस्ट दीपक बिस्वाल ने पीएम नरेंद्र मोदी के 73 वे जन्मदिन पर कटक में उनकी शानदार पोर्ट्रेट बनाई है. इसमें कोणार्क के सूर्य मंदिर के चक्र का भी इस्तेमाल बैकग्राउंड में ठीक उसी तरह से किया है जैसे जी-20 में ग्लोबल लीडर्स के स्वागत डिनर के समय पीएम ने इस चक्र का इस्तेमाल मंच पर किया था.  

दरअसल कोणार्क का सूर्य मंदिर ओडिशा के शानदार हेरिटेज का प्रतीक है. कोणार्क के इस सूर्य मंदिर के चक्र का इस्तेमाल पीएम मोदी ने G20 शिखर सम्मेलन में शामिल हुए ग्लोबल लीडर्स के डिनर बैकग्राउंड में भी किया था. न्यूज़ एजेंसी ANI से बातचीत के दौरान बिस्वाल ने कहा, “मैंने पीएम नरेंद्र मोदी को उनका 73वां जन्मदिन विश करने के लिए धुएं से पोर्ट्रेट बनाया है. इसके बैकग्राउंड में कोणार्क के सूर्य मंदिर का प्रसिद्ध चक्र भी इस्तेमाल किया है जो हमारे ओडिशा के शानदार सांस्कृतिक हेरिटेज का प्रतीक है. हमने देखा था कि कोणार्क के इसी चक्र का इस्तेमाल पीएम मोदी ने G20 में शामिल हुए ग्लोबल लीडर्स के रात्रि भोज में स्वागत के लिए किया था. यह हमारे लिए गर्व की बात थी.”

धुएं से कैसे बनता है पोर्ट्रेट?

आर्टिस्ट बिस्वाल ने बताया कि पोर्ट्रेट बनाने के लिए वह एक मोमबत्ती के धुएं, एक सुई या पुराने पेन की नीब और कनवास का इस्तेमाल करते हैं. इसी तरह से पुणे में भी बीजेपी के कार्यकर्ता ने पीएम के 73वें जन्मदिन पर अनाज और मिलेट्स (बाजरा) का उपयोग करके उनका पोर्ट्रेट बनाया है. उस कार्यकर्ता का नाम किशोर तरवड़े है. उसने बताया कि तस्वीर 10 फीट लंबी और 18 फीट चौड़ी है. इसे बनाने के लिए लगभग 60 किलो अनाज का इस्तेमाल किया गया है.

तरवड़े ने बताया कि इसके लिए गेहूं, तिल, मसूर दाल, हरी मूंग दाल, जवार, रागी, तुअर दाल और सरसों का इस्तेमाल किया गया है. पीएम का यह पोर्ट्रेट पुणे शहर के बुधवार पेठ इलाके के कालिका माता मंदिर भवन में 16 सितंबर से ही डिस्प्ले के लिए रखा गया है. यह 18 सितंबर तक डिस्प्ले किया जाएगा. इसे देखने के लिए लोगों को कोई फी नहीं देनी होगी.

आपको बता दें कि पीएम मोदी का जन्मदिन पूरे देश में बीजेपी कार्यकर्ता मना रहे हैं. जी-20 शिखर सम्मेलन में पीएम ने ग्लोबल लीडर्स के सामने भारत में बड़े पैमाने पर उगाई जाने वाली मिलेट्स को बढ़ावा दिया था.

ये भी पढ़ें:PM Modi Birthday: मां बिन पहला जन्मदिन मना रहे नरेंद्र मोदी, कभी बेटे से मिलने प्रधानमंत्री आवास पहुंच जाती थीं हीराबेन तो कभी खुद पीएम चले जाते

[ad_2]

Source link