फेस्टिव सीजन में बढ़ सकता है हवाई किराया, इंटरनेशनल टूर होगा और महंगा!

फेस्टिव सीजन में बढ़ सकता है हवाई किराया, इंटरनेशनल टूर होगा और महंगा!

[ad_1]

Air Fare Hike in Festive Season: भारत में अगले कुछ दिनों में फेस्टिव सीजन की शुरुआत होने वाली है. त्योहारी सीजन में लोग बड़ी संख्या में अपने घरों को जाते हैं. ऐसे में देश और विदेश से हवाई यात्रा करने वालों की संख्या में बड़ी संख्या में इजाफा होता है. ऐसे में प्रमुख इंटरनेशनल रूट्स पर फ्लाइट्स की मांग में इजाफा देखा जाता है. इस साल भी त्योहार और सर्दियों की छुट्टियों में मांग बढ़ने की संभावना है, मगर गो फर्स्ट संकट के कारण हवाई किराया बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है. 

इकोनॉमिक टाइम्स रिपोर्ट के मुताबिक, एक्सपर्ट्स का कहना है कि वित्तीय संकट से धीरे गो फर्स्ट को तय कोटे के बावजूद भी कोर्ट से रोक के कारण इंटरनेशनल रूटों पर उड़ान भरने की परमिशन नहीं मिली है. ऐसे में फ्लाइट्स की संख्या पर इसका असर दिखेगा और इससे हवाई किराया महंगा होने की संभावना है.

इन रूट्स पर पड़ सकता है असर

ध्यान देने वाली बात ये है किन देशों के बीच कितनी फ्लाइट्स का संचालन होगा यह दोनों देशों के सरकारों के बीच तय होता है. ऐसे में सरकार सभी एयरलाइंस को एक कोटा तय करती है जिससे अधिक फ्लाइट्स के संचालन की अनुमति उस एयरलाइंस को नहीं होती है. गो फर्स्ट के दिवालिया प्रक्रिया शुरू होने से पहले कंपनी ने थाईलैंड, अबू धाबी, सिंगापुर और ओमान जैसे देशों के लिए संचालन राइट्स को हासिल किया था. गो फर्स्ट को 8000 सीटों, मलेशिया के लिए 3000, अबू धाबी के लिए 9000 और सिंगापुर के लिए कुल 1200 सीटें अलॉट की गई थी.

किराये में हो सकती है बढ़ोतरी

एविएशन सेक्टर से जुड़े कई एक्सपर्ट्स के मुताबिक लंबे वक्त से कई एयरलाइंस कंपनियां सरकार से गो फर्स्ट के कोटे के फ्लाइट राइट्स को अलग-अलग कंपनियों के बीच बांटने का अनुरोध कर रही है, लेकिन सरकार ने फिलहाल इस पर किसी तरह का फैसला नहीं लिया है. ऐसे में आने वाले फेस्टिव सीजन, भारत में होने वाले क्रिकेट वर्ल्ड कप 2023 और क्रिसमस और नए साल की छुट्टियों में मांग बढ़ने के साथ हवाई किराया बढ़ने की संभावना है. 

ये भी पढ़ें-

Vaibhav Jewellers IPO: इस दिन आ रहा सोना-चांदी की ज्वैलरी बनाने वाली कंपनी का आईपीओ, जानें कितनी होगी शेयर की कीमत

[ad_2]

Source link